कोचिंग क्लास के बहाने बन गए चुदाई के फ़साने


Click to Download this video!

Hindi sex story, antarvasna दोस्तों आज की कहानी पढने में आप लोगो को बहुत मजा आयेगा | मैं आप लोगो को अपनी कहानी बताऊ इसे पहले मैं आप लोगो को अपने बारे मे सब कुछ बता दूँ | दोस्तों मैं एक बहुत बकचोद लोंडा हूँ | मैं हमेशा लडकियों को ताड़ता रहता हूँ चोदने के लिए और जैसे ही लड़की फसती है तो मैं उसे खूब चोदता हूँ | दोस्तों मेरा नाम अतुल मिश्रा है और मेरी उम्र 24 साल है और लम्बाई 5 फीट 8 इंच है | मेरे चेहरे का रंग गोरा है दोस्तों मेरा लंड 10 इंच का है और खूब मोटा है और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ | मैं अभी एग्जाम की तैयारी कर रहा हूँ | मेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा हैं |

हाँ तो दोस्तों अब मैं अपनी कहानी में आता हूँ मुझे यकीन है कि आप लोगो को यह कहनी पढने में बहुत मजा आने वाला है | दोस्तों मैं एक ऑनलाइन दुकान में जॉब करता हूँ | मुझे जॉब करते हुए 5 साल हो गये है और यह 5 साल जॉब करने का भी एक कारण है | हमारी ऑनलाइन दुकान के सामैंने  लगने वाली कोचिंग क्लास | क्योकि कोचिंग में एक सी एक माल आती थी | मुझे तो लगता था कि मैं भी कोचिंग क्लास ज्वाइन कर लूँ लेकिन नहीं कर सकता था | मैं रोज उन लडकियों को ताड़ता था जो पहले कोचिंग में आती थी और आज भी ताड़ता हूँ जो लडकियां कोचिंग आती है | इस बार तो और ज्यादा एक से एक माल आये कोचिंग में और मुझे तो लगता था कि बस एक लड़की पट जाये तो मैं उसे अपने रूम में बुला कर बहुत चोदुं | मैं रोज उन लडकियों को देख कर मुठ मारा करता था | फिर मैंने सोचा कब तक मुठ मरूँगा | फिर मुझे उस कोचिंग की एक लड़की बहुत ज्यादा अच्छी लगने लगी थी लेकिन वो मुसलमान थी | वो बहुत ही ज्यादा खुबसूरत और सेक्सी थी | सारी लडकियों में वो सबसे अलग दिखती थी | उसके दूध भी बहुत गजब थे | मस्त बड़े बड़े मुझे उसे चोदने का खूब मन करता था | फिर मैंने उसे लाइन देना चालू कर दिया | मैं उसे हर रोज लाइन मारता | मैं रोज कोचिंग के टाइम दुकान के बाहर खड़ा हो जाता और जब वो कोचिंग आती तो उसके सामने खड़ा हो जाता और उसे खूब देखता | मैं पूरे एक महीने उसे लाइन मारता रहा लेकिन वो मुझे जरा सा भी भाव नहीं दे रही थी | फिर मैंने  एक दिन सोचा कि क्यों ना मैं उससे बात ही कर लूँ |

Loading...

फिर भी मुझे उससे बात करने में डर लगता था | फिर मैं सोचता रहा क्या करूँ मुझे तो किसी भी तरह से इसे पटाना है | फिर मेरा एक दोस्त मिला मुझे उसका नाम बिट्टू था और वो पूछने लगा मुझसे भाई अतुल में तेरेको रोज कोचिंग से देखता हूँ साले लड़कियों को लाइन मरता रहता है | तो मैंने उसे बताया हाँ यार भाई एक लड़की मुझे बहुत पसंद है | मुझे उसे पटाना है | तो वो मुझसे पूछने लगा बता अच्छा कौन है वो लड़की तो मैंने उसे बताया वो देख वो आ रही है | जो मुस्लमान है | तो मेरा दोस्त कहने लगा अबे भाई वो तो मेरी बहन की दोस्त है मेरी बहन भी तो उसी के साथ यही कोचिंग पढ़ती है | तो मैंने कहा यार भाई कहाँ था तू अभी तक | फिर मैंने अपने दोस्त बिट्टू से बोला भाई अपनी बहन से बोल ना मेरी सेटिंग करा दे उससे | या बात करा दे मेरी उसे एक बार | तो वो कहने लगा की ठीक है में अपनी बहन से बोलूँगा कि तेरी बात करा दे उस लड़की से और यह बता दे कि तू उसे बहुत पसंद करता है | तो फिर दूसरे दिन जब मेरा दोस्त अपनी बहन को कोचिंग छोड़ने के लिए आया तो मेरे पास आ के खड़ा हो गया और मुझसे बोला की भाई तेरा काम हो गया है | मेरी बहन ने कल रात में अपनी दोस्त को तेरे बारे में सब कुछ बता दिया है | आज जब वो कोचिंग आएगी तो मेरी बहन उसे अपने पास लेके आएगी | फिर मैंने कहा ठीक है भाई थैंक्स यार तूने मेरा काम कर दिया | और जैसे ही वो लड़की कोचिंग आई तो मेरे दोस्त की बहन उसे मेरे पास लेकर आ गयी |

मैं तो उस टाइम ख़ुशी के मारे पागल हो गया | फिर जब दोस्त की बहन उसे मेरे पास लेकर आई तो मेरा दोस्त मुझसे कहने लगा भाई अतुल जो बात करनी है कर ले | फिर मैंने उसे हाय बोला और सबसे पहले उसका नाम पूछा | उसका नाम कायनात था वो २२ साल की थी और मेरे बारे में तो मेरे दोस्त की बहन ने उसे बता ही दिया था | फिर उसके बाद कायनात मुझसे बोलने लगी कि क्या आप मुझे पसंद करते है तो मैंने कहा हाँ मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ | तो बोलने लगी अछा तो इस लिए आप मुझे रोज देखते रहते थे तो मैंने बोला हाँ तो वो हसने लगी और कहने लगी तो आप मुझे बुला कर के बोल सकते थे | फिर मैंने कहा मुझे अच्छा नहीं लगता और थोडा डरता भी था | उसके बाद वो कहने लगी आप भी मुझे अच्छे लगते हो | फिर उसके बाद हम दोनों की दोस्ती हो गयी और उसी समय मैंने कायनात का मोबाइल नंबर भी ले लिया और उसके बाद कायनात और मेरे दोस्त की बहन कोचिंग चले गए | इर मेरे दोस्त बिट्टू ने मुझसे कहा ठीक है भाई तेरा काम तो हो गया अब जाता हूँ | फिर उसके बाद मैं भी अपनी दुकान में चला गया और उसके बाद जब कोचिंग छूट गई तो मैंने कायनात को मेसेज किया | उस दिन के बाद हम दोनों की मेसेज में बात होने लगी और हम दोनों एक दूसरे को फ़ोन भी करने लगे थे | हमारी रात रात भर फ़ोन में बात होने लगी और वो रोज मुझसे मिलती थी जब कोचिंग आती थी | वो कोचिंग से सीधे कालेज जाती थी कभी कभी मैं कायनात को कालेज छोड़ने जाता था | उसके बाद मैंने सोचा की अब कायनात को अपने रूम बुला कर चोदुंगा |

फिर एक दिन मैंने कायनात से कहा कायनात अपन कही घूमने चले जिस दिन तुम्हारे कालेज की छुट्टी होगी | तो उसने कहा हां बिलकुल चलेंगे | फिर जब उसके कालेज की छुट्टी पड़ी तो मैं कायनात को घुमाने एक पार्क ले गया | और जब हम दोनों पार्क में घूम रहे थे तो हम दोनों ने वहां पे खूब सरे कपल को देखा वो लोग एक दूसरे को किस करने में लगे थे | तो मैंने कायनात से कहा कायनात मुझे भी तुम्हे किस करने का मन कर रहा है | मैं तुम्हे किस करूँ तो कहने लगी यहाँ पे नहीं यहाँ कोई देख लेगा मुझे ऐसे में अच्छा नहीं लगता | तो मैंने कहा ठीक है तो फिर मेरे रूम चलो वहां कोई नहीं देखेगा | उसने कहा अच्छा ठीक है तुम अपने रूम ले चलो और कर लो किस उसके बाद मैं कायनात को अपने रूम ले गया | मैंने तो कायनात को किस करने के बहाने चोदने का भी प्लान बना लिया था | हम दोनों जेसे ही रूम में पहुंचे मैंने कायनात को किस करना स्टार्ट कर दिया | कायनात कहने लगी आराम से तुम तो आते ही स्टार्ट हो गये | मैंने कहा हाँ अब तो सबर नहीं हो रहा लग रहा है सब कुछ कर लूँ आज तुमको चोद भी दूँ |

तो कहने लगी अच्छा नहीं हम किस बस देंगे और मैंने कहा नहीं मैं आज ही तुमको चोदुंगा | मैं कायनात को किस करते करते उसके दूध दबाने लगा कायनात के दूध बहुत ही मस्त थे जब मैं कायनात के दूध दबा रहा था तो कायनात को जोश चढ़ने लगा और वो मेरी टीशर्ट उतारने लगी | उसके बाद मैंने अपने पूरे कपडे उतारे और कायनात को पलंग में लेटा के उसके भी कपडे उतार दिए | कायनात मुझे कुछ नहीं कह रही थी क्योकि कायनात को भी चुदने का जोश आ गया था | मैं कायनात के मस्त दूध पीने लगा और किस करने लगा कायनात के दूध पीने का मजा ही कुछ और था उसके दूध बहुत चिकने और बड़े बड़े थे | और उसके मस्त लाल लाल होंठ मन कर रहा था कि किस करते करते खा जाऊं | उसके बाद मैंने अपना 10 इंच का लंड निकाला और कायनात की चूत में रगड़ने लगा | पर जब मैंने देखा इसकी चूत तो एक दम गुलाब जैसी कोमल और गुलाबी है तो मैंने उसकी चूत को चाटने के लिए अपना मुंह उसकी चूत पर लगा दिया | उसकी चूत गीली हो गयी थी तो मैंने पहले उसे अपनी ऊँगली से रगडा और उसके बाद मैंने उसकी चूत पर अपने होंठ से एक मस्त चुम्बन दिया | वो सिसकियाँ लेने लगी और मुझे कुछ और नहीं बस उसकी चूत की मादक महक का आभास हो रहा था |

मैं उसकी चूत में डूब चुका था और बस अपनी जीब से उसकी चूत को चाट रहा था | पहले मैंने उसकी चूत को मस्त ऊपर से चाट चाट के उसको गरम कर दिया | उसके नाद मैंने अपनी दो उँगलियों से उसकी चूत को फैलाया और अन्दर से चाटना शुरू किया | वो तो जैसे पागल सी हो चुकी थी और बस मुझसे चुदाई की गुहार लगा रही थी | मैं भी तबियत से उसकी चूत को चाटे जा रहा था | उसके बाद उसने पानी छोड़ दिया और वो पानी मेरे मुंह पर लग गया | उसके मैंने अपना लंड उसके हाथ में दिया और कहा इसको चूसो | तो वो कहने लगी नहीं मैं ये नहीं कर सकती तो मैंने कहा यार प्लीज मुझे अच्छा लगेगा | फिर उसने मेरा लंड अपने मुंह में लिया और चूसने लगी | पहले वो अध लंड ही चूस रही थी पर मैंने एक धक्का मारा और लंड उसके गले तक उतर गया | उसके बाद मुझे जो मज़ा आया वो मैं आपको नहीं बता सकता पर मेरा मुट्ठ सीधा उसके गले से नीचे उतर गया था | पर मुझे शांति नहीं मिली क्यूंकि चूत चुदाई अभी बाकी थी | मैंने उसको घोड़ी बनाया और उसकी चूत में पीछे से लंड डाला और क्या टाइट चूत उसकी | मेरा लंड अध ही अन्दर घुसा और इतने में ही उसने चीख दिया | फिर मैंने धीरे धीरे चोदा और उसको सेट किया और वो आराम से चुदवाने लगी पर थोड़ी देर बाद मैंने एक जोर का झटका मारा और उसकी चूत में पूरा लंड उतार दिया | वो चिल्लाने लगी पर मैं चुदाई जारी रहते हुए उसका मौसम बना दिया | आधे घंटे की चुदाई में मुझे और उसे बड़ा मज़ा आया |

इस अन्तर्वासना कहानी को शेयर करें :
error:

Online porn video at mobile phone