मामी की सहेली को चोदा


Click to Download this video!

hindi sex story, kamukta हेल्लो दोस्तो | आज मै आपको मामी की सहेली के विषय में कुछ सुनाने के लिए जा रहा हूँ | मै जब घर पर रहता था और तब मेरी मामी से मिलने के लिए उनकी एक सहेली घर पर आई हुई थी | मेरी मामी ने उनकी सहेली से मुझको मिलवाया | मै उनकी सहेली के घर मामी के वजय से आता और जाता था | एक दिन मामी ने मुझ से कहा की उनकी सहेली के घर पर जाकर तुम साडी को लेकर आओ | क्योकि मेरी सहेली ने एक नयी साड़ी खरीदकर लेकर आई है | तब जब मै उनके घर पहुचा तब उन्होने मुझे बैठाया और फिर मैंने कुछ समय के बाद उनकी चुदाई किया | चलो अब मै सुनाता हूँ की मैंने उनकी चुदाई कैसे किया था | मेरी मामी की सहेली घर पर आती थी और मामी के साथ उनकी सहेली को साडी पहनने का सौक था | एक दिन मामी की सहेली ने मामी को फोन लगाया और कहा की कया तुम मेरे घर पर आ सकती हो | तब मेरी मामी ने कहा की तुम मेरी सहेली के घर पर चले जाओ | फिर मै मामी के कहने पर उनके घर साडी लेने के लिए गया था |

जब मै उनके घर साडी लेने के लिए पहुचा तब मामी की सहेली ने मुझ को घर पर बैठने के लिए कहा | मै उनके घर पर कुछ समय के लिए बैठा हुआ था | फिर मामी की सहेली ने मेरे लिए चाय बनाकर लेकर आई | फिर मै मामी के साथ चाय पीने लगे | फिर मै मामी के साथ वो करने लगा उस दिन जिसके लिए मुझे अवसर मिला था | फिर मै मामी की सहेली को चोदने लगा | चुदाई करने से पहेले फिर पहेले मैंने मामी की सहेली के कपडे को पहले खोल दिया | कपडे खोलने के बाद फिर मैंने उनकी सहेली के दूद को अपने हातो से दबाने लगा | कुछ समय तक उनके दूद को अपने हातो से रगड़ने के बाद फिर मै उसके मुह में अपने लंड को अन्दर डाल दिया | उनके मुह में अपने लंड को डालने के बाद फिर मैंने उनकी चूत के अन्दर अपने लंड को डालना शुरु किया  | कुछ समय तक तो मेरा लंड उसकी चूत के अन्दर और बाहर घुस रहा था | फिर मैंने उनकी सहेली से कहा की क्या आपको मेरे लंड चुसना है | तब मामी की सहेली ने मुझ से कहा की हा मुझे आपका लंड चुसना है | लंड चुसाई चलती रही फिर मैंने उनकी मामी की सहेली से मैंने कहा की अब मै आपकी चूत के अन्दर अपना हाथ डाल सकता हूँ | तब मामी की सहेली ने मुझ से कहा की तुमने तो मेरे कपडे उतार दिए तो हो इसलिए तुम कुछ भी कर सकते हो | फिर उनके हा कहने पर मैंने अपने हाथ को उनकी चूत के अन्दर घुसेड दिया | मै उस दिन जब मामी की सहेली को चोद रहा था | तब मामी की सहेली से पूछ कर उनको चोद रहा था | जब उनके चूत के अन्दर अपना लंड घुसेड़ना रहता था तब मै उनकी सहेली से पूछ लेता था  क्या मै आपके चूत के अन्दर अपना लंड डाल लू | कुछ समय के बाद जब मेरे लंड से रस मलाई गिरने लगी तब मैंने उनकी सहेली से कहा क्या आप मेरे लंड से निकल रही रस मलाई को पी सकती हो | तब उसने मुझ से कहा की हा मै आपके लंड से निकल रहे रस मलाई को पी सकती हूँ | मै चकित रह गया था क्योकि उन्होने मेरे लंड से निकल रहे रस मलाई को पी कर समाप्त कर दिया | फिर जब मै उनकी चूत लेने के बाद उन से कहा क्या मै अब चलत सकता हूँ | तब उन्होने मुझ से कहा की हा अब तुम जा सकते हो |  तब मै उनको साडी देने के बाद उनकी सहेली के घर से बाहर निकल आया | घर पर लौटने के बाद मैंने मामी से कहा की मैंने आपकी सहेली की साडी को पहुचा दिया है |

अगले दिन मुझे एक खास अवसर मिला की उस मामी की सहेली के साथ किसी अनजान सहेली को भी चोद सकता था | अगले दिन जिस मामी की सहेली को मैंने चोदा था वो मेरी मामी की घर पर आई हुई थी | मामी की सहेली लेकिन अकेले नही आई थी उसने उनके साथ एक उनकी पड़ोस में रहने वाली उनकी पहचान की औरत को लेकर आई हुई थी |  तब मुझे एक अवसर मिला की मै उनकी सहेली के साथ उस औरत को भी चोद सकता था | पहेल कुछ दिन तक वो जो औरत मेरे घर पर आई हुई थी वो पहेले मेरी मामी की सहेली नही थी लेकिन जब मेरी मामी की सहेली के साथ पहली दफा मेरी मामी के घर पर आई थी तब मुझे उस आई हुई औरत को चोदने का अवसर मिला | जब वो पहली दफा आई हुई औरत मेरी मामी की सहेली बन गई थी तब कुछ महीने के बाद वो अकेली मेरे घर पर आई हुई थी | वो औरत उस दिन मेरी मामी से मिलने के लिए इसलिए आई हुई थी क्योकि उनको कपडे खरीदने के लिए कही पर जाना था |

Loading...

तब मेरी मामी ने मुझ से कहा की तुम कार चालू करो आज कार से कपडे खरीदने के लिए चलते है | जब मैंने कार चालू किया तब मामी और उनकी बनी हुई नयी सहेली कार की पीछे वाली सीट पर बैठी हुई थी | मुझे लेकिन उस औरत की चुदाई करना था इसलिए जब कार चल रही थी तब मैंने उनकी सहेली से कहा की आज कपडे खरीदने के बाद मै आपको मामी के साथ घर पहुचाने के लिए चलूंगा |  जब मामी और उनकी नयी बनी हुई सहेली दुकान पर रुक कर कपडे खरीद रहे थे तब कपडे खरीदने के दौरान उनकी सहेली की साडी के पल्लू निचे गिर गये | जब साडी की पल्लू गिरी तो मैंने उनके दूद को देखा | उनके दूद ब्लाउज के भले अन्दर छिपे हुए थे | क्योकि उनके दूद बड़े थे इसलिए उनके दूद उनके ब्लाउज से बाहर आने वाले थे | उस औरत के दूद और बदन उसके मोटापे के कारण शानदार लग रहे थे | फिर जब मामी और उस औरत ने उस दिन कपडे खरीद लिया था | तब मैंने वहा पर एक दुकान से चाट खाया | उस औरत से मेरी पहचान हो चुकी थी | मैंने एक बहाना बनाया ताकि मै उस औरत को उनको घर में सरलता से चोद सकू | मैंने अपनी मामी से कहा की पहेले मै आपको घर पर छोड़ देता हूँ फिर मै आपकी नयी सहेली को उनके घर पर छोड़ने के लिए कार से चला जाउंगा | तब मेरी मामी और उनकी सहेली तयार हो गए थे | इसलिए पहेले मैंने मामी को पहेले घर पर छोड़ा फिर मै उनकी सहेली को घर पर छोड़ने के लिए गया | उस दिन मुझे उनकी सहेली ने मुझे बताया की आज वो घर पर अकेली है |

असलियत तो ये थी की वो घर पर सिर्फ उनके पति के साथ रहा करती थी और बाकि उनके बच्चे शहर से बाहर रहते थे | उनकी नयी सहेली ने जब मुझे बताया की उनकी सहेली घर पर अकेली है तब मै उनको घर तक छोड़ने के लिए गया हुआ था | घर पर छोड़ने के बाद मैंने वो किया जिसके लिए मुझे अवसर मिला था | मै जब उनकी नयी सहेली के घर पर गया हुआ था तब उन्होने मुझ से बैठने के लिए कहा | फिर मै कुछ समय तक उनके सोफे पर बैठे हुए थे | फिर कुछ समय के बाद उन्होने मेरे लिए मिटाई और नमकीन लेकर आई | तब मै उनकी दी हुई मिटाई और नमकीन खाने लगा | अब मेरे पास एक अवसर था की मै उनकी चुदाई आसानी से कर सकता था | तब जब वो किचन के अन्दर जा रही थी तब मैंने उनके हातो को पकड़ा और उनको पीछे से गले लगा लिया | उन्होने ने मुझ से कहा की आज मेरी पति शहर से बाहर गए हुए है इसलिए तुम आसानी से मेरी चुदाई कर सकते हो | जब मै उनको पीछे से गले लगाया हुआ था तब मेरा लंड उनकी गाड से चिपका हुआ था | इसके आलावा मै जब उनको पीछे से गले लगाया हुआ था तब मै उनके दूद के अपने हाथो से दबा रहा था | फिर मैंने उनकी साडी को ऊपर किया | मै उस दिन उनकी चुदाई बिना उनकी साडी को खोले कर रहा था | मैंने पहेले उनकी साडी को उपर उठाया फिर जब उनकी साडी उपर थी तब मैंने अपने लंड को पानी से गिला किया |

लंड को पानी से गिला करने के बाद फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत में डालने के लिए उन्हे झुकाया | जब वो घुटने के बल बैठी हुई थी | तब मै पीछे से अपना लंड उनकी चूत के अन्दर डाल रहा था | तब कुछ समय उनकी चुदाई करने के बाद उस औरत ने मुझ से कहा की तुम कितने देर तक मेरी चूत को पीछे से चोदोगे  | तब मैंने कहा की हा मै अब आपको सोफे पर लिटा कर चोदने वाला हूँ | फिर मैंने उन्हे सोफे पर चलने के लिए कहा | फिर वो जमीन से उठ गयी और सोफे पर लेट गयी | जब वो सोफे पर लेट गयी थी तब मै उनकी छाती के उपर लेट गया | लेकिन उनकी छाती पर लेटने से पहले मैंने अपने कपडे उतार दिया था और नंगा था | लेकिन उस औरत ने साडी पहनी हुई थी | फिर मैंने उस औरत की साडी को उपर उठाया | साडी उपर उठाने के बाद फिर मैंने उनकी चूत के अन्दर अपना लंड डाल दिया | कुछ समय तक उसकी चूत पर जब मेरा लंड घुस रहा था तब मेरे लंड से सफेद रंग का तरल भी निकल रहा था | असलियत तो ये थी की उस सफेद रंग के तरल के कारण मुझे उस लड़की की चूत को चोदने में एक शानदार चिकनाहट मिल रही थी | अब जब मै चिकनाहट की वजय से उस औरत की चूत को चोद रहा था तो मेरा लंड आसानी से उसकी चूत के अन्दर और बाहर घुस रहा था | काफी देर तक उसकी चूत को चोदने के बाद फिर मैंने उस औरत से कहा की अब जब मेरे पास फुरसत का समय रहेगा तब मै आपसे मिलने के लिए आऊंगा | तब जब मैंने उनकी चुदाई कर लिया था फिर मैंने फैसला किया की अब मुझे घर लौटकर चलना पड़ेगा | फिर मै अपनी मामी के घर लौटकर आगया | उस औरत को चोदने का अवसर मुझे मिलता रहा इसलिए मैंने उस दिन के बाद अपनी मामी से कहा की मैंने आपके लिए कपडे खरीद कर लाया हूँ इसलिए आज मै आपको जो आपकी नयी सहेली बनी हुई उनको देने के लिए मेरे पास कपडा है | इसलिए आज आप कार पर बैठो और मै आपके साथ चलता हूँ ताकि आपकी सहेली को कपडे पहुचाकर आये | तब मामी मेरे साथ चलने के लिए तयार हो गयी | फिर मैंने उनको उनकी सहेली के घर कार से पहुचा दिया और इन वजहो से मेरी पहचान उस औरत से बनी रहती है |

इस अन्तर्वासना कहानी को शेयर करें :

Online porn video at mobile phone