मरीज की चिकनी चूत चोदने का मजा


Click to Download this video!

hindi sex story, kamukta हेल्लो दोस्तो | मैं एक डॉक्टर हूँ जो की हर प्रकार का इलाज़ करता है | एक दिन मेरे पड़ोस के घर पर एक लड़की महमान बनकर आई थी | जो अंकल मेरे पड़ोस में रहते थे वो मेरे परिचित के अंकल थे | उस अंकल के घर पर कोई लड़की रहने के लिए आई हुई थी | वो लड़की अंकल के घर पर किराये से रहा करती थी | एक दिन मैं उस लड़की के घर पर गया हुआ था क्योकि उस लड़की को खासी आ रही थी | पड़ोस वाले अंकल ने मुझे बुलाया और कहा की उन्होने एक लड़की को किराये पर रखा है | जिसकी तबियत बिगड़ी हुई है | जब उस लड़की की तबियत बिगड़ी हुई थी तब मैं उस लड़की को देखने के लिए उसके किराये वाले घर पर गया हुआ था | जब उस लड़की से मेरे परिचय हो गया तब कुछ महीने के बाद मैंने उस लड़की को चोदा | चलिए जानते है की मैंने उस लड़की को कैसे चोदा | पहेले दिन जब मैं उस लड़की के किराये वाले घर पर गया था तब मैंने उस लड़की का चेक अप किया और मैंने पाया की उस लड़की को खासी और बुखार था | फिर मैंने उस लड़की को दवाई खाने के लिए दिया | कुछ दिन के बाद वो लड़की का बुखार सुधर गया |

अब उस लड़की का दिनचर्या सामान्य हो गया था | मेरी एक क्लिनिक है जहा पर लोगो का चेक अप किया करता था | लोगो को जब मेरे इलाज से फायदा होता था तब लोग मेरी क्लिनिक पर मिटाई लेकर आया करते थे और मुझे धन्यवाद दिया करते थे | कुछ महीनो के बाद उस लड़की को बुखार हो गया था तब वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी क्योकि मेरा घर उस लड़की के पड़ोस में था | उस लड़की ने मुझ से कहा की उसको बुखार हो गया है इसलिए क्या आप मुझे कुछ दवाई दे सकते है | जिस समय वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी तब मेरे घर पर कोई नही था | मेरे घर पर मेरा छोटा भाई और मेरी बहन रहा करती थी | उनके आलावा मेरे घर पर कोई नही रहता था | जब वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी उस समय मेरे घर पर कोई नही था | उस दिन जब वो लड़की मेरे घर पर आई हुई थी तब उस लड़की ने अन्दर से ब्रा नही पहना हुआ था | इसलिए जब मैं उसका चेक अप कर रहा था तब उसका दस रुपय का सिक्का निचे गिरा तब मैंने देखा की उस लड़की ने अन्दर से कुछ नही पहना है इसलिए उस लड़की का दूध मैं साफ साफ देख पा रहा था | उस लड़की के दूध को जब मैंने देखा तो मैंने उस लड़की को उस दिन अपने घर पर चोदने का फैसला किया | उस लड़की का चक अप करना फिर मैंने शुरु किया | इलाज करने के दौरान मैंने उस लड़की के होटो को चूम लिया | फिर उस लड़की ने मुझे उसके होटो को चूमने का मौका दे दिया |

जब उस लड़की ने मुझे उसके बदन से कुछ भी करने का मौका दिया तो मैं उस लड़की के दूध दबाने लगा | कुछ समय तक तो मैं उस लड़की के दूध को दबाता रहा | फिर कुछ समय के बाद उस लड़की से मैंने कहा की तुम कपडे उतार दो | वो लड़की कपड़े उतारने के लिए तयार थी और उसने जब उसके कपडे उतारा तो उसके दूध बड़े थे | फिर मैं उस लड़की के दूध को पीने लगा | कुछ समय के बाद मैं उस लड़की का पजामा खोलने लगा | क्योकि मुझे उस लड़की के चूत का दर्शन करना था | मैंने जब उस लड़की के चूत का दर्शन किया तब मैंने पाया की उस लड़की की झाट के बाल उगे हुए थे | उसके झाट के बाल को फिर मैंने अपने हाथो से पकड़ा तब मैंने पाया की उस लड़की के झाट के बाल लम्बे थे | उस लड़की ने कई साल से उसके झाट के बाल साफ नही किया था |

Loading...

उस लड़की ने फिर मुझ से कहा की क्या तुम सिर्फ मेरे झाट के बाल को पकडे रहोगे | तब मैंने अपने लंड के उपर अपना थूक लगाया और फिर मैं उस लड़की के चूत में अपना लंड घुसेड दिया | मैंने अपने लंड के ऊपर थूक इसलिए लगाया था क्योकि मेरा लंड आसानी से उस लड़की की चूत के अन्दर आसानी से घुस सके | कुछ समय के बाद जब मेरा लंड उसकी चूत में आसानी से घुस रहा था तब मेरा लंड से वीर्य बहने लगा | जब मेरे लंड से वीर्य बहने लगा तो उसकी चूत मेरे वीर्य से गिला हो गया था | जब मैंने अपने चूत से अपने लंड को बाहर निकाला तब उसकी चूत से मेरा वीर्य बाहर गिर रहा था | क्योकि मेरे घर पर मेरा छोटा भाई और मेरी एक बहन रहती थी इसलिए उनके आने का समय भी हो रहा था इसलिए मैंने उस लड़की से कहा की मेरा छोटा भाई आ सकता है इसलिए जब मेरे घर पर कोई नही रहेगा तब तुम मेरे घर पर आ सकती हो | उस लड़की ने भी मुझ से कहा की हा जब तुम्हारे घर पर कोई नही रहेगा तब मैं तुम्हारे घर पर आ सकती हूँ | मेरे भाई एक दिन मेरे घर पर था तब उसने उसके एक मित्र को फोन लगाया | मेरे भाई ने मुझ से कहा की आप से मेरा एक मित्र मिलने के लिए आने वाला है | मेरे मित्र की तबियत बिगड़ी हुई थी इसलिए वो आपसे मिलने के लिए आने वाला है | उसके मित्र के बदन पर दर्द हो रहा था इसलिए वो मुझ से मिलने के लिए  आया हुआ था |

जब मेरे भाई का मित्र मेरे घर पर आया हुआ था तब मैंने उस लड़के का चेक अप करना शुरु कर दिया | उस लड़के का चक अप करने के बाद मैं उस लड़के को दवाई खाने के लिए दिया | कुछ दिन के बाद वो लड़का मेरे घर मुझ को धन्यावाद देने के लिए आया हुआ था और उस लड़के के साथ उसकी बहन भी मेरे घर पर आई हुई थी | उस दिन के बाद उस लड़की की बहन से मेरा परिचय हो गया | उस दिन उस लड़की ने मेरा फोन नम्बर ले लिया क्योकि डॉक्टर का नम्बर लोगो के पास रहता है इसलिए उस लड़की ने मेरा फोन नम्बर लिया था | एक दिन मुझे उस लड़की से मिलने का अवसर मिला | वो लड़की इलाज करवाने के लिए मेरे क्लिनिक पर आई हुई थी | जब मैं उस लड़की का इलाज कर रहा था तब उस लड़की ने मुझ से कहा वो मेरे पास इसलिए आई हुई थी क्योकि उसके भाई का इलाज मैंने किया था और उसके भाई को आराम मिल गया | मैंने उस लड़की को दवाई लिखकर दिया और उसने दवाई को खाया और कुछ दिन के बाद उस लड़की को आराम मिल गया |

जब उस लड़की को आराम मिल गया तब वो मेरी क्लिनिक पर आई हुई थी | उस लड़की ने मेरे लिए मिटाई लेकर आई हुई थी क्योकि मेरा भाई ने उसके मित्र को बताया था की जब भी कोई बन्दा मेरे भाई की दवाई खाकर उसको आराम मिलता है तब वो मेरे भाई के लिए मिटाई ले कर आते है | इसलिए वो लड़की मेरे लिए मिटाई ले कर आई हुई थी | जब उस लड़की ने मुझे मिटाई दिया तो मैं उस लड़की का दिया हुआ मिटाई खाने लगा | कुछ देर तक उस लड़की का दिया हुआ मिटाई खाने के बाद मैं उस लड़की से हसी मजाक करने लगा | फिर मैं उस लड़की से कहा की तुम चेक अप करवा लो हो सकता है की तुमे कुछ दवाई दे सकू | फिर मैं उस लड़की का चेक अप करने लगा | चेक अप करने के दौरान मैंने उस लड़की के होटो को चूम लिया | जब मैं उस लड़की के होटो को चूम रहा था तब उस लड़की ने मेरा साथ दिया | उस लड़की के लिए फिर मैंने अपना लंड को बाहर निकाला और फिर मैं उस लड़की के मुह के अन्दर अपने लंड को घुसेड दिया और वो लड़की मेरा लंड उसके मुह पर लेकर चूसने लगी | कुछ समय तक वो लड़की मेरे लंड को चुस्ती रही | फिर उसके बाद मैंने उस लड़की के कपडे को उतारा और उसके कपडे उतारने के बाद उस लड़की ने ब्रा और चड्डी पहनी हुई थी | तब उस लड़की की ब्रा को बिना उतारे मैं उस लड़की के दूध को दबाने लगा | दूध को दबाने के बाद फिर मैंने उस लड़की के दूध को पीना शुरु कर दिया |

दूध को पीने के दौरान मेरे क्लिनिक के बाहर कोई आया हुआ था | इसलिए मैं कुछ समय के लिए बाहर गया और मैंने अपने चौकीदार से कहा की बाहर कोई आया हुआ इसलिए उससे कहना कुछ समय के बाद आये | फिर मैं लौटकर अपने क्लिनिक के अन्दर चला गया और उस लड़की को गले लगाया | फिर वो लड़की मेरे होटो को चूमने लगी | कुछ समय तक होटो को चूमने का सिलसिला चलता रहा | फिर कुछ समय के बाद मैंने उस लड़की की ब्रा और चड्डी को उतार दिया | जब वो लड़की नंगी हो चुकी थी तब मैं उस लड़की के चूत के अन्दर अपने लंड को डाला और अपने लंड को हिलाने लगा | कुछ समय के बाद मेरे लंड से वीर्य का रिसाव शुरु हो गया और उस लड़की का बदन मेरे वीर्य से भीग गया | कुछ समय तक ये सिलसिला चलता रहा और फिर मैं उस लड़की से उसके घर जाने के लिए कहा | मैं डॉक्टर हूँ इसलिए मुझे कही पर भी इलाज करने का मौका मिल जाता है | मैं किसी वजय से शहर के बाहर गया हुआ था तब मुझे एक लड़के के घर जाना पड़ा | मैं शहर के बाहर गया हुआ था तब एक दिन एक सज्जन का फोन आया की उनके लड़के की तबियत बिगड़ी हुई है | उस लड़के का इलाज करने के लिए मुझे उस लड़के के घर पर जाना पड़ा | उस लड़के का जब मैं इलाज कर रहा था तब मैंने पाया की उसकी एक बहन भी है | चेक अप करने के बाद मैंने उस लड़के को दवाई खाने के लिए दिया | मेरी दी हुई दवाई से उस लड़के को फायदा पहुचा | एक दिन उस लड़के के पापा ने मुझे नास्ते के लिए बुलाया था | क्योकि उस लड़के की बिगड़ी हुई तबियत मेरी दवाई से बदल गयी थी | जब मैंने नास्ता कर लिए तब उस लड़के के पापा ने मुझ से कहा की मेरी पत्नी का भी आप इलाज कर दो | फिर मैंने उनकी पत्नी को भी दवाई खाने के लिए दिया और कुछ दिन के बाद उसको भी आराम मिल गया | मैं जहा पर जाता हूँ वहा पर लोग मुझ से इलाज करवाने लगते है |

इस अन्तर्वासना कहानी को शेयर करें :

Online porn video at mobile phone