पड़ोस में रहने वाले दादा की बहू को चोदा


Click to Download this video!

hindi sex story, kamukta हेल्लो दोस्तो | आज मैं आपको अपने घर के कुछ दूर पर रहने वाली एक लड़की के विषय में कुछ सुनाने के लिए जा रहा हूँ | एक दिन मौका पाकर मैंने उस लड़की को कैसे चोदा आज सुनाने के लिए जा रहा हूँ | मैं समोसा और अलूबंडा बनाकर अपनी जीविका चलाया करता था | मेरे पड़ोस में एक दादा रहा करते थे | मैं जब बाजार पर समोसे का ठेला लगाया करता था तब वो मेरे लगाये हुए ठेले पर लोग आते थे और मेरा बनाया हुआ समोसा खाया करते था | एक दिन जब मैं ठेले पर था तब दादा जी ने उनकी बहू को लाया था | एक दिन मुझे जब मौका मिला था तब मैं उस दादा के घर पर गया हुआ था और जब मैंने देखा की उनकी बहू अकेली थी तब मैंने उनकी बहू को चोदा था चलो जानते है की मैंने उनकी बहू को कैसे चोदा था | मैं बाजार के दिन अपने ठेले पर समोसा का ठेला लगाया करता था | एक दादा को समोसा खाने का सौक था |

एक दिन जब मैं बाजार पर समोसा बेच रहा था तब दादा ने उनकी एक बहू को अपने साथ लेकर आया था | तब एक दिन दादा बाजार पर आये थे तो उनकी एक बहू को चोदने के लिए मैंने दादा से एक बहाना बनाया | मैंने दादा से कहा की आप को समोसे खाने का सौक है | इसलिए मैं आपके लिए घर पर समोसे ला कर दे सकता हूँ | तब उस दिन दादा को मेरा प्रस्ताव पसन्द आ गया और उन्होने मुझे से कहा की हा तुम अब से मेरे घर पर समोसा ले कर आया करो | एक दिन जब मैं समोसा पहुचाने के लिए गया था तब घर पर दादा नही थी | घर पर उनकी एक बहू रहती थी | दादा का सिर्फ एक लड़का है | लेकिन किसी कार्य की वजय से उनका लड़का घर से बाहर किसी अन्य शहर पर रहा करता था | इसलिए जिस दिन मैं दादा को समोसा पहुचाने के लिए गया हुआ था तब उनकी एक बहू घर पर मौजूद थी | जब मैं समोसा दादा के घर पहुचा तो उनकी बहू ने मुझे बैठने के लिए कहा | फिर मैं घर के अन्दर सोफे पर बैठ गया |

कुछ समय तक तो मैं सोफे पर बैठा हुआ था | फिर उनकी बहू ने मुझ से कहा की तुम्हारे लिए मैं चाय बनाकर लाती हूँ | फिर उनकी बहू ने मेरे लिए चाय बनाकर लाई | मैंने उनकी बहू के लिए अधिक समोसा लेकर आया था | ताकि समोसे कम न पड़े | उनकी बहू मेरे समोसे की बड़ाई कर रही थी और मैं उनकी चाय की बड़ाई कर रहा था | इसके बाद मैं उनकी तारीफ करने लगा | तब उनकी बहू शर्मा गयी और फिर उनकी बहू ने मुझ से कहा की आप कुछ समय तक रुको क्योकि आपके लिए मैं पोहा लेकर आती हूँ | फिर उनकी बहू ने मेरे लिए पोहा बनाकर लाया | फिर उन्होने मुझे खाने के लिए पोहा दिया | उनका पोहा खाने के बाद फिर मैंने उनकी बड़ाई करना शुरु कर दिया | कुछ समय के बाद जब मैंने उनकी तारीफ किया था तब वो शर्मा गयी तभी मैंने उस लड़की को गले लगा लिया | गले लगाने के बाद फिर मैंने उनकी बहू के दूद को दबाना शुरु कर दिया |

Loading...

मैं दादा की बहू के दूद को बिना उसकी साडी को उतारा उसके दूद को दबा रहा था | फिर मैंने उनकी साडी को ऊपर की तरफ उठाया और फिर मैं उसकी चूत को अपने मुह से चाटने लगा | कुछ समय तक तो मैं उसकी चूत को अपनी जीब से चाटता रहा | फिर मैं उनकी बहू की चूत के अन्दर अपने लंड को डालकर हिलाने लगे | कुछ समय के बाद फिर मेरे लंड से गर्मी निकलकर बाहर आने लगी | मेरे लंड से मलाई की नदिया बहने लगी | अब तक तो मेरा उनकी बहू से एक खास सम्बन्द बन चूका था | उस दिन जब मैं उनकी बहू को चोदकर घर लौट रहा था तब मैंने उनकी बहू से कहा की अगर तुमको मुझ से मिलना है तो तुम मुझ से कभी भी मिल सकती हो | इसलिए तुम मेरा फोन नम्बर ले लो | फिर मैंने उनकी बहू का फोन नम्बर ले लिया और मेरा नम्बर उनको दे दिया | कुछ महीने के बाद मैंने अपने पड़ोस में रहने वाली एक मामी को चोदा | मैं समोसा अपनी जीविका चलाने के लिए बेचा करता था | लेकिन समोसा बेचने के बहाने में कई लडकियो से आसानी से सम्बन्द बना लेता था |

मैं जब बाजार का दिन होता था तब मैं बाजार के दिन अपना समोसे का ठेला लगाया करता था | तब कई लोग मेरे पहचान वाले मेरे ठेले के पास आते थे और मुझ से समोसा लिया करते थे | समोसा खाने के लिए कई लोग मेरे पास आ जाते थे | मेरे पड़ोस में एक मामा रहा करते थे | वो बाजार के दिन मेरे ठेले पर आते थे और मामी को साथ ले कर आते थे | ताकि उन्हे समोसा खिला सके | मैंने एक दिन मामी को चोदने की योजना बनाई तब मेरे घर कोई नही था | मामा मेरे घर के काफी पास में रहा करते थे | मामी की चुदाई करना था इसलिए मैं उनके पति के लिए एक प्रस्ताव दिया था की मैं आपको मुफ्त में समोसा खिला सकता हूँ | इसके आलावा अगर मामी को मुफ्त में समोसा खाने है तो वो भी मेरे घर पर मुफ्त में समोसा खा सकती है | उनको मेरा दिया हुआ प्रस्ताव पसन्द आ गया | मामा ने मुझे फोन लगाया और कहा तुम कहो पर हो | तब मैंने उन से कहा की मैं घर पर हूँ और समोसा तयार करने में लगा हुआ हूँ | तब मामा ने मुझ से कहा की क्या तुम मेरे लिए समोसा बनाकर ला सकते हो मुझे और तुमारी मामी को समोसा खाना है | तब मैंने उनसे कहा की हा मैं तुम्हारे लिए समोसा ले कर आ सकता हूँ | फिर मैं उनके लिए समोसा बनाकर लेकर गया |

जिस दिन मैं उनके लिए समोसा बनाकर लेकर गया था | तब मामा ने शानदार तरीके से मेरी खातिरदारी करने लगे | उन्होने खातिदारादी के बाद मुझ से कहा की आज का भोजन तुम मेरे घर से करके जाना | मैं भी उनके यहा पर भोजन करने लगा | कुछ समय के बाद फिर मैं भोजन करने के बाद वहा से चला गया लेकिन जाते हुए ये कहकर चला गया की अब जब भी आपको मुफ्त में समोसा खाने हो तब आप मुझे फोन लगा देना ताकि मैं तुम्हारे लिए समोसा बनाकर रख लू | फिर कुछ समय के बाद मैंने उनसे कहा की अगर आपको समोसा खाना है तो आप मेरे घर पर समोसे लेने के लिए आ सकते हो और इसके आलावा आप मामी को भेज सकते हो क्योकि मेरा घर आपके घर के पास ही है | एक दिन मामा ने मामी को समोसा लाने के लिए भेजा था | जिस दिन मामी मेरे घर पर आई हुई थी तब उस दिन मामी टी शर्ट और लोवर पहनकर आई हुई थी | उस दिन मेरे पास एक सुनहरा मौका मिला था की मैं मामी की चुदाई सरलता से कर सकू | जब मामी मेरे घर पर आई हुई थी तब मैंने उनको अपने घर की सोफा पर बैठने के लिए कहा जब वो सोफे पर बैठ गयी तब मैंने मामी से कहा की आप कुछ देर के लिए रुको | क्योकि अभी समोसा तयार नही किया है |

समोसे को पहले गर्म करना पड़ेगा | जब समोसा गर्म हो जायेगे तब मैं आपके लिए समोसा लेकर आऊंगा |  फिर कुछ समय के बाद मैंने गर्म समोसा लेकर आया और मामी से कहा की आप घर ले कर चले जाओ | इसके आलावा मैंने मामी से कहा की आप समोसा खाकर जाना | फिर मामी मेरे घर के सोफे पर बैठकर समोसा खाने लगी | तब मुझे अवसर मिला था की मैं घर पर आई हुई मामी को चोद सकू | जब मामी समोसा खा रही थी तब मैंने उनकी बड़ाई करना शुरु कर दिया | बड़ाई करने के दौरान मामी हसने लगी | तब फिर उसके बाद मैंने उन्हे गले लगा लिया | गले लगाने के बाद फिर उनकी गाड को दबाना शुरु कर दिया | कुछ समय तक तो मैं उनकी गाड को अपने हातो से दबाता रहा | फिर उसके बाद मैंने उनकी होटो को चूमने लगा | मामी ने मेरा साथ दिया | उन्होने मुझे कसकर गले लगा लिया | इसके बाद मैंने उनकी लोवर को निचे खीचा |

जब मैं उनकी लोवर निचे उतार दिया था तब वो सिर्फ चड्डी पहनी हुई थी | फिर मैंने उनकी चड्डी को निचे की तरफ कर दिया | फिर उसके बाद मैं उनके पैर को पहलया और फिर मैं उनकी चूत को अपने जीब से चाटने लगा | फिर मैंने अपनी पेन्ट को निचे कर दिया और निचे करने के बाद फिर मैंने अपना लंड को उनकी चूत के अन्दर घुसेड़ने के लिए अपने लंड के उपर थोडा सा थूक लगाया और जब मेरे लंड पर चिकनाई आ गई तब मैंने लंड को उसकी चूत के अन्दर डाल दिया | फिर मेरे लंड से मलाई निकलने लगी और उनकी चूत चिप चिप्पी हो गई | फिर मैंने मामी से कहा की आज के लिए इतना ही | कभी किसी दिन आप को फुर्सत का समय मिले तब आप मेरे पास आ सकती हो | मामी ने कहा की मैं कल तुम से मिलने के लिए आ सकती हूँ | लेकिन मैंने मामी से कहा की आप कल नही आना एक दिन छोडकर आप आना ताकि मामा को कुछ मालूम नही चले |

मेरे दिए हुए सलाह को मामी ने अपना लिया | उस दिन के बाद से मामी मेरे घर पर एक दिन छोडकर मेरे घर पर आती थी | एक दिन मामा मेरे घर पर आये हुए थे वो उनकी कार से आये हुए थे | मामा ने मुझ से कहा की उनको एक ड्राईवर की आवस्यकता है तब मैंने उनकी कार को चलाने के लिए हा कह दिया | एक दिन मामा के घर पर गया था तब उन्होने मुझ से कहा की तुम्हारी मामी को बाजार जाना है तुम मामी को कार से लेकर चले जाओ | फिर मैंने मामी को कार के अन्दर बैठाल दिया | फिर मामी ने मुझ से कहा की बाजार से पहले एक साडी वाले के पास चलो | मैंने कार को एक साडी वाले के पास लेकर चला गया | वहा पर पहुचकर फिर मैंने मामी के लिए एक साडी खरीदकर दिया | उस दिन मामी मुझ से खुस थी क्योकि मैंने उनको साडी खरीदकर दिया था | साडी खरीदने के बाद मैंने मामी को कुछ खिलाया भी था | उस दिन मैंने मामी से कहा की अगर आपको नयी साडी खरीदना है तो आप मुझे कह देने और मैं आपके लिए नयी साडी खरीदकर दे सकता हूँ |

इस अन्तर्वासना कहानी को शेयर करें :

Online porn video at mobile phone